TIK TOK BAN पर TIK TOK के प्रवक्ता ने दिया अपना बयान

0
56

TIK TOK BAN पर TIK TOK के प्रवक्ता ने कहा ये ! TIK TOK BAN पर TIK TOK के प्रवक्ता ने दिया अपना बयान ,TIK TOK india के प्रमुख ने कहा TIK TOK ने इंडिया में इंटरनेट का लोकतंत्रीकरण किया है !

TIK TOK BAN
Image -sorce- pixels

चीन और भारत के बीच दिनों दिन तनाव बढ़ता ही जा रहा है , चीन से सीमा विवाद के कारण दोनों देशो के बीच तनातनी काफी बढ़ चुकी है क्युकी गलवान घाटी में हुए झड़प में भारत के 40 जवान शहीद हो गए थे वही सूत्रों के मुताबिक़ चीन के भी 50 से ज्यादा सैनिको की मौत की खबर सामने आयी थी , फिलहाल तो इसका पूरा पता नहीं चला की जिस तरह इंडिया के चालीस जवान सहीद हुए वैसे चीन के कितना जवान मारे गए सूत्रों की माने तो चीन से भी 50 से ज्यादा सैनिको के मौत की खबर है , गलवान घाटी में देश के चालीस जवान के शहीद होने पर पूरे देश भर में आक्रोश देखने को मिल रहा था , लोग चीनी प्रेसिडेंट के पोस्टर्स , पुतले जला रहे थे चीनी सामान का कठोरता से विरोध कर रहे थे , अपना आक्रोश व्यक्त कर रहे थे !
बीते सोमवार को भारत सरकार ने चीन को लकेर एक बहुत ही बड़ा महत्वपूर्ण कदम उठाया है , भारत सरकार ने चाइना के 59 ऐप्स भारत में प्रतिबंधित कर दिए , सोमवार को सरकार ने चाइना के 59 ऐप्स पर भारत में बैन लगा दिया है , इन ऐप्स में कई मोस्ट पॉपुलर एप्लीकेशन शामिल है जिनमे TIK TOK , LIKEE, (अलीबाबा ग्रुप)UC BROWSER , CAM SCANNER , WE CHAT शामिल हैं इनके अतिरिक्त 54 और चाइनीज़ ऐप्स है जिनपर बैन लगा दिया गया है !

TIK TOK BAN
Image -sorce- pixels

ये सभी ऐप्स भारत में भी काफी ज्यादा पॉपुलर है खास कर TIK TOK , ये सभी ऐप्स सिर्फ मोबाइल्स पर ही नहीं पर्सनल लैपटॉप और कम्प्यूटर्स पर भी उपयोग किये जाते हैं !
भारत ने एक यह कदम आपातकालीन उपाय और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए जरूरी बताया , भारत सरकार द्वारा कहा गया की राष्ट्रीय सुरक्षा और आपातकाल के लिए इन चाइनीज़ ऐप्स पर बैन लगाना जरूरी था !
वर्तमान में भारत और चाइना के सैनिक लद्दाख में एक दुसरे के आमने सामने खड़े हैं , दोनों देशो के सैनिको के बीच झड़प की स्थिति बानी हुयी है , 15 जून 2020 के चाइना और भारतात के सैनिको के बीच झड़प हो गयी थी जिसमे भारत के बीच फौजी सहीद हो गए थे , इसके बाद से ही देश में चाइना के खिलाफ विरोध प्रदर्शन और भी तेज़ी से बढ़ गया था !
रवि शंकर प्रसाद ( इंडिया के सूचना एवं प्रशारण मंत्री ) ऐप्स को बैन करने के विषय में ने ट्वीट के जरिये बताया की यह कदम भारत की सुरक्षा , सम्प्रभुता , और अखंडता के लिए बहुत ही जरूरी था , हम भारत के लोगो की नागरिकता और पर्सनल डाटा पर किसी भी तरह की सेंध नहीं चाहते !
सूत्रों के मुताबिक़ इन चाइनीज़ ऐप्स के जरिये भारत के लोगो का डाटा गैर कानूनी रूप से चाइना जा रहा था !
सूचना एवं प्रशारण मंत्रालय दने अपने इस्टेट्मेंट में कहा की हमे इन ऐप्स के विषय में कई बार शिकायते मिल रही थी , andriod और IOS पर ये ऐप्स लोगो के पर्सनल डाटा पर सेंध लगा रहे थे , इन ऐप्स पर प्रीतिबन्ध लगाने से इंडिया के नागरिको की पर्सनल डाटा सुरक्षित होगी ,

भारत में TIK TOK बैन होने पर ये था TIK TOK की प्रतिक्रिया


भारत में टिक टोक को बैन कर दिए जाने पर टिक टोक की तरफ से भी प्रतिक्रया आयी है , TIK TOK के प्रवक्ता द्वारा यह कहा गया है की , भारत सरकार ने TIK TOK सहित 59 ऐप्स पर बैन लगाने का अन्तरिम फैसला दिया है , उन्होंने कहा की हमे गर्व है की हमारे ऐप TIK TOK के भारत में लाखो उपयोगकर्ता है , टिक टोक की तरफ से यह भी कहा गया की हमलोग इस विषय में भारत सरकार से बात करने की कोशिश कर रहे है और उनके फैसले पर भी काम करना शुरू कर दिया है , आगे कहा गया की हम भारतीयों का डाटा किसी भी सरकार को यहाँ तक की चीन की सरकार को भी नहीं देते !

TIK TOK INDIA के प्रमुख निखिल गांधी ने कहा ये
TIK TOK INDIA के प्रमुख निखिल गांधी ने अपने बयान में कहा है की TIK TOK की वजह से भारत में इंटरनेट का लोकतंत्रीकरण हुआ है , यह एक ऐसा मंच है जिसके द्वारा कोई भी अपनी प्रतिभा दिखा सकते है ,इंडिय में TIK TOK के लाखो उपयोगकर्ता है कई लोग ऐसे भी है जिन्होंने इंटरनेट का उपयोग करना TIK TOK के माध्यम से ही सीखा है इक टोक ने देश में इंटरनेट का लोकतंत्रीकरण किया है TIK टोक भारत में 14 भारतीय भाषाओं में उपलब्ध है , कोरोना वायरस के समय में TIK TOK ने PM CARES फण्ड में टीश करोड़ रूपए भी दिए हैं !

कोरोना की वैक्सीन बनाने के लिए इंसानो पर ट्रायल शुरू हो चुका है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here